Aaj Tak Live आजतक लाइव

Sushant singh case After Bihar Maharashtra government filing caveat in Supreme Court hearing Rhea Chakraborty petition on August 5 – सुशांत केस: अब महाराष्ट्र सरकार भी पहुंची सुप्रीम कोर्ट, कहा- हमारा भी पक्ष सुना जाए; रिया की याचिका पर 5 अगस्त को सुनवाई


सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले में पटना में दर्ज FIR मुंबई स्थानांतरित करने के लिए अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती की याचिका में बिहार सरकार के बाद अब महाराष्ट्र सरकार ने कैविएट दाखिल कर दी है। महाराष्ट्र सरकार ने भी कोर्ट से अनुरोध किया है कि इस याचिका पर कोई भी आदेश देने से पहले उसका पक्ष भी सुना जाए। महाराष्ट्र सरकार के वकील सचिन पाटिल ने कहा कि हमने भी सुप्रीम कोर्ट में अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती की स्थानांतरण याचिका में कैविएट दाखिल की है। बिहार सरकार और सुशांत सिंह राजपूत के पिता द्वारा कोर्ट में कैविएट दाखिल किए जाने के बाद महाराष्ट्र सरकार के इस कदम का मकसद यह सुनिश्चित करना है कि रिया चक्रवती की स्थानांतरण याचिका पर उसका पक्ष सुने बगैर कोई भी आदेश नहीं दिया जाए।

गौरतलब है कि दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के सिलसिले में उनके पिता द्वारा पटना में दर्ज करायी गयी एफआईआर मुंबई स्थानांतरित करने के लिए अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती की याचिका में बिहार सरकार ने कोर्ट में कैविएट दायर की थी। बिहार सरकार ने भी अपने आवेदन में न्यायालय से अनुरोध किया है कि रिया चक्रवर्ती की याचिका पर कोई भी आदेश देने से पहले उसका पक्ष भी सुना जाए। इससे पहले, सुशांत सिंह राजपूत के पिता कृष्ण किशोर सिंह ने भी वकील नितिन सलूजा के माध्यम से कोर्ट में कैविएट दायर की थी। उन्होंने भी इस मामले में उन्हें नोटिस दिए बगैर कोई कार्यवाही नहीं करने का अनुरोध न्यायालय से किया है।

रिया की याचिक पर 5 अगस्त को सुनवाई

उधर, एक्ट्रेस रिया चक्रवर्ती के 29 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका पर 5 अगस्त को सुनवाई होगी। रिया ने यह याचिका सुशांत सिंह राजपूत को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोपों को लेकर पटना में 24 जुलाई को दर्ज करायी गयी एफआईआर मुंबई स्थानांतरित करने सहित बिहार पुलिस द्वारा की जा रही जांच पर रोक लगाने को लेकर दायर किया है। रिया चक्रवर्ती के वकील सतीश मनशिंदे ने कहा था कि जब पहले से ही जांच मुंबई में चल रही है और इसकी पूरी जानकारी लोगों को है तो ऐसे में बिहार में इसी मामले में एक ही घटना पर केस दर्ज करना गैर-कानूनी है। वहीं इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने सुशांत सिंह की मौत के मामले की जांच मुंबई पुलिस से लेकर सीबीआई को सौंपने के लिए दायर जनहित याचिका खारिज कर दी थी।

स्वतंत्र और निष्पक्ष जांच की उम्मीद करते हैंः प्रकाश जावडे़कर

उधर, सुशांत सिंह केस को लेकर केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडे़कर ने कहा कि वह सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की स्वतंत्र एवं निष्पक्ष जांच की उम्मीद करते हैं ताकि सच्चाई सामने आए। उन्होंने कहा, ‘ मैं स्वतंत्र एवं निष्पक्ष जांच की उम्मीद करता हूं ताकि सच्चाई सामने आए। मेधा को फिल्मोद्योग में स्थान मिलना चाहिए’। वहीं भाजपा के वरिष्ठ नेता भूपेन्द्र यादव ने कहा कि दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के परिवार को न्याय दिलाने में सब लोग साथ हैं।

40 लेागों के बयान दर्ज कर चुकी है मुंबई पुलिस

बता दें, इस मामले में संजय लीला भंसाली, फिल्म समीक्षक राजीव मसंद, अभिनेत्री संजना सांघी, अभिनेता की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती, कास्टिंग निर्देशक शानू शर्मा, फिल्मकार मुकेश छाबड़ा, यशराज फिल्म्स के आदित्य चोपड़ा समेत कई बॉलीवुड हस्तियों से पूछताछ की जा चुकी है। मुंबई पुलिस राजपूत के परिवार के सदस्यों, उनके रसोइए समेत करीब 40 लेागों के बयान दर्ज कर चुकी है। राजपूत 14 जून को बांद्रा में अपने अपार्टमेंट में फांसी से लटके मिले थे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। में रुचि है तो



सबसे ज्‍यादा पढ़ी गई






Source link

Related posts