राहुल गांधी चुनाव को हिटलर से तुलना आजकल की जा रही, दावे का रिसर्च किया आपके भी काम आएगी

राहुल गांधी के इस दावे पर थोड़ी  रिसर्च किया और आपके भी काम आएगी और जब हम ने रिसर्च किया

तो पता चला कि वर्ष 1932 में जो बनी में चुनाव तो हुए थे यह बात सही है लेकिन उस चुनाव में हिटलर पूरी तरह से जीता नहीं था तो अब सवाल यह है कि हिटलर सत्ता में आया कैसे इसका जवाब भी हम आपको देते हैं क्योंकि हमारे देश में बार-बार हिटलर से तुलना आजकल की जा रही है हिटलर का इस्तेमाल किया जाता है कि चुनाव जीता था लेकिन वर्ष 1932 में दो बार वहां पर संसदीय चुनाव हुए थे क्योंकि पहले चुनाव के बाद कोई भी राजनीतिक पार्टी सरकार बनाने में नाकाम रही 1930 में चुनाव हुआ और इस बार हिटलर की पार्टी को 33% सीटें मिल गई करीब 600 सीटों वाली संसद में हिटलर की पार्टी को 196 सीटें ही मिली थी सिर्फ 196 जो बाकी दलों से काफी ज्यादा थी इसलिए सबसे बड़ी पार्टी होने के कारण हिटलर को सरकार बनाने का निमंत्रण मिला और इस तरह हिटलर सत्ता में आया लेकिन हिटलर जर्मनी का चांसलर खुद चुनाव जीतकर नहीं बना था ,

बल्कि किस लिए बना था क्योंकि उसकी पार्टी चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी लेकिन बहुमत उसके पास भी नहीं था कांग्रेस के वायरल प्रदर्शन का बीजेपी ने आज विरोध किया है और बीजेपी की तरफ से जो सबसे बड़ा चेहरा आज सामने आया वह है

गृह मंत्री अमित शाह का और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का और इन दोनों ने ही कांग्रेस के इस विरोध प्रदर्शन को काला कपड़ा पहनकर किए गए इस प्रदर्शन को अयोध्या में राम मंदिर के शिलान्यास के विरोध से जोड़ दिया जो कि ठीक 2 वर्ष पहले आज ही के दिन राम मंदिर का शिलान्यास किया गया था और बीजेपी ने बहुत कलाकारी के साथ इस पूरे प्रदर्शन को उसके साथ जोड़ दिया

 

Union Home Minister, AMIT SHAH

मैं मानता हूं कि आज ही के दिन इस देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने राम जन्मभूमि का शिलान्यास किया था साडे 500 साल पुरानी है समस्या का बहुत शांतिपूर्ण तरीके से समाधान निकला था और कहीं पर भी देश में ना दंगा हुआ था ना हिंसा हुई थी और शांतिपूर्ण तरीके से करोड़ों करोड़ों लोगों की श्रद्धा को परवान चढ़ाने का काम इस देश के प्रधानमंत्री ने किया था कांग्रेस ने आज का दिन इसी लिए विरोध के लिए और विशेषकर काले कपड़ों में विरोध के लिए चले किया है कि वह एक सटल मैसेज देना चाहते हैं कि हम राम जन्मभूमि के शिलान्यास का विरोध करते हैं और अपनी तुष्टीकरण की नीति को आगे बढ़ाना चाहते हैं

CM YOGI ADITYANATH

कांग्रेस के नेताओं का आचरण अत्यंत निंदनीय है कांग्रेस पार्टी कई दिनों से आंदोलन कर रही है अपने सामान्य कपड़ों में कर रही थी सोमवती असहमति हो सकती है लेकिन 5 अगस्त की तिथि को श्री राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण कार्य के शुभारंभ दिवस के दिन अंग्रेजों ने काले कपड़े पहन कर के जो प्रदर्शन किया या राम भक्तों का अपमान है अयोध्या दिवस कब है भारत के लोकतंत्र का अपमान है 

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.