Chhattisgarh No Confidence Motion Highlights: छत्तीसगढ़ में बीजेपी विधायक अजय चंद्राकर के बयान पर सीएम भूपेश बघेल ने जताई आपत्ति, सदन में जोरदार हंगामा

Highlights: अजय चंद्राकर के बयान पर पर सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि अजय चंद्राकर को जब भी मौक़ा मिलता है वह ऐसा बयान देते हैं. पहले आईटम गर्ल कहा था. अब मंत्रिमंडल के सदस्यों को चियर्स गर्ल कहते हैं.

 

धर्मजीत सिंह ने टी एस सिंहदेव के इस्तीफे पर कसा तंज

अविश्वास प्रस्ताव पर जोगी कांग्रेस के विधायक धर्मजीत सिंह अरपा ने कहा कि नदी में रेत माफिया सरकार के करीबी लोग हैं, कोई वहां पहुंच नहीं सकता, लेकिन एक कलेक्टर ने हिम्मत दिखाई और घाट तक पहुंचा, अब दोबारा जा पायेगा ये कह नहीं सकता. धर्मजीत सिंह ने टी एस सिंहदेव के इस्तीफे पर तंज कसा. उन्होंने कहा कि टीएस बाबा और भूपेश बघेल के बीच झगड़े से बाकी सभी लोग परेशान हैं, बिग बॉस सीरियल की तरह यहां भी रूठना मनाना चल रहा है.

 

सदन में इस बात के लिए बीजेपी विधायक अजय चंद्राकर ने मांगी माफी
सदन में बीजेपी विधायक अजय चंद्राकर ने माफी मांगी है. बीजेपी विधायक अजय चंद्राकर ने कहा- मैंने चार बार ये मांग की थी कि सदन में कौन से शब्द असंसदीय हैं या नहीं ये बता दीजिए. आसंदी मुझे जो भी निर्देश देगा मैं मानूंगा. मेरे अब तक दिए गए समस्त बयान में मेरे किसी भी शब्द से किसी को ठेस पहुंची हो तो मैं माफ़ी मांगता हूं.
बीजेपी विधायक अजय चंद्राकर के बयान पर मुख्यमंत्री ने भी जताई आपत्ति
बीजेपी विधायक अजय चंद्राकर के बयान पर मुख्यमंत्री ने भी आपत्ति जताई. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि अजय चंद्राकर को जब भी मौक़ा मिलता है वह ऐसा बयान देते हैं. इससे पहले उन्होंने आईटम गर्ल कहा था. अब एक नया शब्द कहते हैं मंत्रिमंडल के सदस्यों को चियर्स गर्ल कहते हैं. ये उचित नहीं है.

आदिवासी दिवस पर छुट्टी देने पर बीजेपी विधायक अजय चंद्राकर की टिप्पणी पर सदन में जोरदार हंगामा

आदिवासी दिवस पर छुट्टी देने पर बीजेपी विधायक अजय चंद्राकर की टिप्पणी पर सदन में हंगामा हो गया. सत्तापक्ष के आदिवासी विधायकों न आपत्ति जताई और कहा कि अजय चंद्राकर माफ़ी मांगें. अजय चंद्राकर ने कहा था विश्व आदिवासी दिवस पर दी गई छुट्टी सिवाय राजनीति के कुछ नहीं है. मंत्री कवासी लखमा ने कहा- सदन में 90 में से 29 विधायक आदिवासी वर्ग से आते हैं. अजय चंद्राकर आदिवासियों का अपमान कर रहे हैं.
कांग्रेस विधायक मोहन मरकाम ने बीजेपी पर लगाए ये आरोप
कांग्रेस विधायक मोहन मरकाम ने आरोप लगाया कि अविश्वास प्रस्ताव पर बीजेपी ने 84 आरोप लगाए हैं इसमें से एक भी में दम नहीं है.दुनिया में 800 प्रकार के खेल हैं, लेकिन बीजेपी भावनाओं के साथ खेलती है. उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी का इलेक्शन जीतने का काम ईडी करती है. इस लिए इसका नाम इलेक्शन मैनेजमेंट डिपार्टमेंट रख देना चाहिए. आरोप लगाया कि संविधानिक एजेंसी का बीजेपी दुरुपयोग कर रही है ये हमारे नेताओं को लगातार परेशान कर रहे हैं. उन्होंने कहा- 2024 में कांग्रेस की सरकार बनेगी.
अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा में कांग्रेस विधायक मोहन मरकाम ने विपक्ष के आरोपों का दिया ये जवाब
छत्तीसगढ़ विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर कांग्रेस के विधायक मोहन मरकाम ने विपक्ष के आरोपों का जवाब देना शुरू किया. उन्होंने कहा कि 2013 -14 में बीजेपी की 780 करोड़ संपत्ति, 2019- 20 में बढ़कर 4 हजार 847 करोड़ रुपए हो गई है. जनता कंगाल बीजेपी मालामाल, कांग्रेस के 70 साल में 500 करोड़ की संपत्ति. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने देश को आगे बढ़ने का काम किया. कांग्रेस विधायक ने कहा- देश बदल नहीं देश बिक रहा है. कांग्रेस विधायक ने पीएम मोदी पर भी निशाना साधा है. उन्होंने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा- ”मोदी जी विकास पुरुष नहीं विनाश पुरुष हैं.”
पिछले एक घंटे से अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा कर रहे हैं बीजेपी विधायक बृजमोहन अग्रवाल
बीजेपी विधायक बृजमोहन अग्रवाल पिछले एक घंटे से अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ की जनता ने बहुत उम्मीदों के साथ सरकार चुनी थी. छत्तीसगढ़ के इतिहास में इतना बड़ा बहुमत कभी नहीं मिला. आजकल तो अप्रवासी मुख्यमंत्री हो गए हैं, कभी यूपी कभी असम, कभी उत्तराखंड हिमाचल और गुजरात और छत्तीसगढ़ की जनता ने यहां के लिए चुना है.
बृजमोहन अग्रवाल ने कह दी बड़ी बात
संसदीय सचिव के चक्का जाम किए जाने पर सरकार पर गम्भीर आरोप लगाए. कहा हम भी विधायक हैं जब अधिकारियों को फोन करो तो अधिकारी कहते हैं हाउस से फोन करवा दीजिए. ये कौन सा हाउस है कहां है? किसी को कुछ पता नहीं.
बृजमोहन अग्रवाल ने सरकार पर लगाए ये आरोप
बृजमोहन अग्रवाल ने कहा- यहां मुख्यमंत्री को मंत्री पर विश्वास नहीं है. मंत्रियों को मुख्यमंत्री पर विश्वास नहीं है. शासन को प्रशासन पर विश्वास नहीं. शासन पर जनता का विश्वास नहीं है इसलिए हमने अविश्वास प्रस्ताव लाया है.
छत्तीसगढ़ विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा शुरू
छत्तीसगढ़ विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा शुरू हो चुकी है. नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने पत्र पटल पर रखा. सबसे पहले बृजमोहन अग्रवाल ने विषय पर चर्चा शुरू की.
बैकग्राउंड
Chhattisgarh No Confidence Motion Highlights: छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की अगुवाई वाली भूपेश बघेल की सरकार के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी ने अविश्वास प्रस्ताव पेश किया है. पार्टी ने आरोप लगाया है कि सरकार के चार साल बीत जाने के बाद भी सरकार लोगों से किया हुआ वादा पूरा नहीं कर पाई है. इस बाबत बीजेपी नेता और सदन में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने बीते बुधवार को अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस दिया और गुरुवार को विधानसभा अध्यक्ष ने इसे मंजूरी दी.
छत्तीसगढ़ के विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने इस प्रस्ताव पर चर्चा के लिए 27 जुलाई यानी आज की तारीख तय की है. बता दें बीजेपी का यह अविश्वास प्रस्ताव ऐसे वक्त में आया है जब राज्य में कांग्रस के वरिष्ठ नेता और मंत्री टीएस सिंहदेव ने बीते दिनों पंचायत मंत्रालय से इस्तीफा दे दिया था.
बीजेपी ने सिंहदेव के इस्तीफे को भी मुद्दा बनाया है

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.